Personalized
Horoscope
  • AstroSage Brihat Horoscope
  • AstroSage Big Horoscope
  • Ask A Question
  • Raj Yoga Report
  • Career Counseling

ज्योतिष क्विज़ 19: जातिका की मृत्यु किस बीमारी से हुई?

मित्रों, एस्ट्रोसेज क्विज़ 19 के साथ एक बार हम फिर हाज़िर हैं। इस क्विज़ में भाग लेकर दीजिये अपनी क़िस्मत को मौका विजेता का ख़िताब जीतने का। और हाँ, एस्ट्रोसेज क्विज़ हॉल ऑफ़ फ़ेम में अपना नाम देखना मत भूलिएगा।

Astrology Quiz is good for astrological practices.

प्रश्न: अगस्त 2013 में एक बीमारी के चलते जातिका दुनिया छोड़ गई। कृपया कारण सहित बताएं कि मृत्यु किस बीमारी के कारण हुई?

उत्तर विकल्प:

  • (A) यकृत की खराबी
  • (B) स्तन कैंसर
  • (C)मस्तिष्क ज्वर
  • (D) एड्स

Click here to read in English...

जातिका का जन्म विवरण:

  • लिंग: स्त्री
  • जन्म तिथि: दिसम्बर 03, 1978
  • जन्म समय: 11:52
  • जन्म स्थान: इलाहाबाद, भारत
  • देशान्तर (Longitude): 81:51 E
  • अक्षांश (Latitude): 25:27 N

कुण्डली

Astrology quiz19 birthchart for north in hindi
Astrology quiz19 birthchart for south in hindi

कुण्डली का पूरा विवरण देखने के लिए दिए हुए लिंक पर जाइये - - http://k.astrosage.com/quiz19

नियम और शर्तें

  1. कृपया अपने उत्तर के साथ ज्योतिषीय विश्लेषण अवश्य दीजिए। बिना विश्लेषण के उत्तर मान्य नहीं होंगे।
  2. केवल अक्टूबर १९, २०१४ तक ही उत्तर ही मान्य होंगे।
  3. क्विज़ का परिणाम अक्टूबर २०, २०१४ को घोषित किया जाएगा।
  4. उत्तर देने के लिए आप या तो नीचे “कमेंट बॉक्स” का उपयोग कर सकते हैं या फिर हमें quiz@astrosage.com पर विश्लेषण सहित उत्तर भेज सकते हैं।
  5. एक से अधिक विजेता होने की सूरत में किसी भी एक को पुरस्कार के लिए यादृच्छिक (रेंडम) तरीक़े से चुना जाएगा। किन्तु सभी सही उत्तर देने वाले प्रतिभागियों का नाम एस्ट्रोसेज क्विज़ हॉल ऑफ़ फ़ेम में सम्मिलित किया जाएगा।

क्विज़ #19 का परिणाम

एस्ट्रोसेज.कॉम ने अपने क्विज़ सेक्शन में उन्नीसवीं क्विज में आपसे एक ज्योतिषीय सवाल पूछा था। जिसमें आपको एक जन्म विवरण देते हुए पूछा गया था कि: अगस्त 2013 में एक बीमारी के चलते जातिका दुनिया छोड़ गई। कृपया कारण सहित बताएं कि मृत्यु किस बीमारी के कारण हुई?

सहीं जबाब है ऑप्सन (B) - स्तन कैंसर

कई जानकारों ने सटीक उत्तर दिए लेकिन जिन लोगों ने कारण सहित सही उत्तर दिया उनके नाम हैं: आचार्य वंदना सोनवने, गोविंदन पी के, प्रदीप कुमार दास, नीरज दिक्षित, संथि प्रस्सना, सचिन श्रीवास्तव, अमित चौहान, विराज थाले, निकिता जैन और सूरज धिताल।

सर्वश्रेष्ठ उत्तर

इस बार सभी लोगों ने नियमबद्ध तरीके से उत्तर दिया है लेकिन उनमें से किसी एक को सर्वश्रेष्ठ उत्तर देने वाले का खिताब देना होता है, और इस बार का यह ख़िताब जाता है “आचार्य वंदना सोनवने” जी को।

इन्होंने जो उत्तर दिया है वह इस प्रकार है:

ANSWER IS BREAST CANCER

basic promise of her disease

1. Her Lagna is Aquarius, in the Nakshatra of Rahu, and Ketu placed there in the Nakshatra of Jupiter, this indicates that she will suffer from a disease which will not be easily diagnosed for a long time and will become chronic and incurable. Mars is aspecting it which is 3L and 10L, so she will be travelling to far off her place for its treatment, which will be incurable and finally result into loss of her life as Mercury and Sun joins in Mars in the 10H.

2. The lagna lord Saturn is placed in the Maraka house with Rahu that means this disease will take a shape of chronicity and incurable after a long time and will create fear of death for her in future which will take away her happiness. It also indicates some outer growth in the body which is shapeless and formless.

3. In the 6th house is placed exalted Jupiter, which is in exchange with the 6L Moon.As cancer is a watery sign, the problem will start from fluids in the body. Jupiter indicates, disease of chronic nature that will make her bedridden and will be genetic linked. It promises to give the best of treatment that requires huge expenditure, but since it is retrograde the treatment will not save her life.

4. The 6L Moon is placed in 11th house, which is a house of growth, in Dhanu Rashi. Moon represents breast, hence this chronic disease would be due to disturbances in the fluids in the body resulting into growth of cells. Since, this is a fiery sign this treatment requires

DASHA
In August 2013, she was undergoing,
Rahu/Venus/Venus

Rahu placed in the Maraka Bhava along with 12th lord Saturn, made her disease very chronic in nature which became incurable even after hospitalisation for a very long time.

Venus is 9L in the 9th house, the luck and family support did not favour her any longer and she died. Venus is great friend of Rahu and Saturn so gave her Moksha after so much of suffering.

May her soul rest in peace.

Regardss

Vandana

ऑप्सन (B) स्तन कैंसर, सही उत्तर क्यों है?

जातिका का जन्म कुम्भ लग्न और धनु राशि में हुआ है। लग्न नक्षत्र शतभिषा है जो कि राहु का नक्षत्र है। लग्न पर शनि , मंगल , राहु , और केतु का प्रभाव है। स्वाभाविक है, ऐसे में जातिका को कोई न कोई असाध्य रोग होना था। लग्न के अलावा कुंडली का सर्वाधिक पीड़ित भाव चतुर्थ भाव है। चतुर्थेश शुक्र भले ही अपनी राशि में है, लेकिन राहु के नक्षत्र में है और शनि से दृष्ट है। चौथे भाव पर भी शनि के अलावा सूर्य और मंगल जैसे ग्रहों का प्रभाव है। यानी लग्न पर कई पाप ग्रहों का प्रभाव जटिल व असाध्य रोग का होना दर्शा रहा है, वहीं चतुर्थ भाव व चतुर्थेश का पीड़ित होना इस बात का संकेत कर रहा है कि चतुर्थ भाव से सम्बंधित रोग हो सकता है।

अब क्योंकि मामला स्त्री का है तो चतुर्थ भाव से सम्बंधित रोग स्तन कैंसर भी हो सकता है। इसकी पुष्टि दशाओं से कर लेते हैं। मृत्यु के समय जातिका पर राहु में शुक्र का प्रभाव था। अतः, राहु और शुक्र की स्थिति पर गौर करना चाहिए। राहु कुंडली के सप्तम भाव में है, शनि के साथ और सूर्य की राशि व नक्षत्र में है। यानी सप्तम के अलावा वह उस भाव से सम्बधित रोग दे सकता है जिससे सूर्य और शनि में सम्बन्ध हों। स्पष्ट है कि सूर्य और शनि का चतुर्थ भाव के साथ दृष्टि सम्बन्ध बन रहा है। अंतरदशा नाथ शुक्र चतुर्थ भाव का स्वामी भी है, अतः रोग का चतुर्थ से सम्बंधित होना सुनिश्चित हो रहा है।

कामांगों पर शुक्र का अधिपत्य माना गया है, अतः स्त्री के मामले में हम शुक्र को स्तन स्थल का कारक मान सकते हैं। अतः, जन्म कुंडली में लग्न व चतुर्थ का पीड़ित होना तथा मृत्यु के समय दशा का सप्तम व चतुर्थ से संबधित होना स्तन कैंसर की पुष्टि करता है।

जिन लोगों का उत्तर सही नहीं हुआ, उन्हें निराश होने की ज़रूरत नहीं है। पुन: प्रयास करें और क्विज़ 20 में भाग लें, मेहनत जरूर रंग लाएगी। आशा है आप सभी बिना निराश हुए अगले प्रश्न का सही उत्तर देंगे। आप सभी लोगों का एस्ट्रोसेज परिवार की ओर से बहुत-बहुत धन्यवाद।

एस्ट्रोसेज परिवार सभी हिस्सेदारों और विजेताओं को मुबारकबाद देता है । यदि आपका नाम विजेताओं की सूचि से छूट गया है तो हमे बताएँ, हम वह सूचि पुनः तैयार करेंगे। यह सभी नाम अपनी जगह " ऎस्ट्रोसेज क्विज़: हॉल ऑफ़ फ़ेम " में बनाएँगे । यदि आपका ख़ाता एस्ट्रोसेज ऑनलाईन डायरेक्टरी पर है तो हमें बताएँ। हम आपके ख़ाते को आपके नाम के साथ जोड़ देंगे।

क्या आपने यह मौका गँवा दिया? डरिये मत, आपके लिए प्रस्तुत है क्विज़ - 20 ! अपनी किस्मत आज़माइए!

Astrology Quiz Articles

Astrological services for accurate answers and better feature

50% off

Get AstroSage Year Book with 50% discount

Buy AstroSage Year Book at Best Price.

Big Horoscope
What will you get in 100+ pages Big Horoscope.
Finance
Are money matters a reason for the dark-circles under your eyes?
Ask A Question
Is there any question or problem lingering.
Career / Job
Worried about your career? don't know what is.
Love
Will you be able to rekindle with your lost love?
Health & Fitness
It is said that health is the real wealth. If you are not

Astrological remedies to get rid of your problems

Red Coral / Moonga
(3 Carat)

Get the Best Results of Your Deeds with this Combo.

Gemstones
Buy Genuine Gemstones at Best Prices.
Yantras
Energised Yantras for You.
Rudraksha
Original Rudraksha to Bless Your Way.
Feng Shui
Bring Good Luck to your Place with Feng Shui.
Mala
Praise the Lord with Divine Energies of Mala.
Jadi (Tree Roots)
Keep Your Place Holy with Jadi.

Buy Your Big Horoscope

100+ pages @ Rs. 650/-

Big horoscope

AstroSage on MobileAll Mobile Apps

AstroSage TVSubscribe

Buy Gemstones

Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com

Buy Yantras

Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com

Buy Feng Shui

Bring Good Luck to your Place with Feng Shui.from AstroSage.com

Buy Rudraksh

Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com

Reports