Personalized
Horoscope

शनि गोचर 2018

शनि गोचर 2018

शनि गोचर और शनि साढ़ेसाती महत्वपूर्ण ज्योतिषीय घटनाक्रम हैं। वैदिक ज्योतिष में शनि को क्रूर ग्रह माना गया है लेकिन स्वभाविक रूप से शनि न्याय प्रिय और दंडाधिकारी हैं इसलिए उन्हें कलयुग का न्यायाधीश कहते हैं। शनि का कार्य प्रकृति में संतुलन पैदा करना है इसलिए समस्त मानव जाति पर शनि का गहरा प्रभाव होता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार शनि कर्म और सेवा का कारक होता है यानि इसका सीधा संबंध आपकी नौकरी और व्यवसाय से होता है। इसी वजह से शनि की चाल का असर आपकी नौकरी व व्यवसाय में सफलता और उतार-चढ़ाव को दर्शाता है। इसके प्रभाव से ही मनुष्य के जीवन में बड़े बदलाव होते हैं। ये परिवर्तन सकारात्मक और नकारात्मक दोनों हो सकते हैं। इसका फल आपकी राशि और कुंडली में शनि की चाल और स्थिति से तय होता है।

शनि साल 2018 में धनु राशि में स्थित होगा और यह पूरे वर्ष इसी राशि में उपस्थित रहेगा। हालाँकि 18 अप्रैल 2018 (बुधवार) को प्रातः 7:10 बजे शनि धनु राशि में ही वक्री होगा और 06 सितंबर 2018 (गुरुवार) को सायं 05:02 बजे इसी राशि में ही मार्गी होगा। शनि वक्री की अवधि कुल 142 दिनों की रहेगी। आइए जानते हैं शनि गोचर 2018 का प्रभाव 12 राशियों पर किस तरह पड़ेगा।

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। अभी जानें अपनी चंद्र राशि: चंद्र राशि कैलकुलेटर

Click here to read in English

मेष

शनि गोचर 2018 के अनुसार शनि आपकी राशि से नवम भाव में स्थित है। यह आपके दसवें (पेशा, कर्म) एवं ग्यारहवें (आय, लाभ एवं उपलब्धि) भाव का स्वामी है। शनि के नवम भाव में स्थित रहने से मेष राशि वाले जातकों के करियर की रफ्तार धीमी रहेगी। जून तक आपके करियर में धीमी गति से उन्नति होगी और फिर उसके बाद अक्टूबर तक करियर में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। इस समय आपको कठिन परिश्रम की आवश्यकता होगी। कार्य स्थल पर तनाव और चुनौती का सामना करना पड़ सकता है, इस दौरान धैर्य से काम लें। कठिन परिश्रम और प्रयास जारी रखें। शनि की क्रूर दृष्टि के कारण आपके भाई-बहनों को चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। अच्छी बात है कि इस साल आप विरोधियों पर हावी रहेंगे।

उपाय: काली गाय को घी लगी रोटी खिलाएं।

वृषभ

शनि आपकी राशि से आठवें भाव में स्थित होगा। यह आपके नवम (प्रसिद्धि एवं भाग्य) और दशम (पेशा और कर्म) भाव का स्वामी है। इस साल शनि की क्रूर दृष्टि आपके पारिवारिक जीवन पर पड़ेगी। इस दौरान आपके पिता के स्वास्थ्य में गिरावट हो सकती है या फिर उनके साथ रिश्तों में कड़वाहट आ सकती है। परिजनों, बच्चों और दोस्तों के साथ रिश्तों को बनाए रखने के लिए अधिक प्रयास करने होंगे और सभी को साथ लेकर चलना होगा। किस्मत आपके साथ आँख-मिचोली का खेल खेलेगी। इस दौरान आपको अचानक अप्रत्याशित हानि हो सकती है। अपनी सेहत का ख्याल रखें अन्यथा कोई रोग आपको अपनी चपेट में ले सकता है। बच्चों की शिक्षा अथवा प्रेम संबंधी मामलों के लिए आपको एक कारगर व्यवस्था बनाने की आवश्यकता होगी। जून से अक्टूबर तक का समय करियर के लिए उत्तम रहेगा। उसके बाद आपको कठिन परिश्रम करना पड़ सकता है। वहीं कार्यक्षेत्र में सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। अपने स्वास्थ्य को लेकर भी सचेत रहें, किसी पुरानी बीमारी से पुनः परेशानी हो सकती है।

उपाय: काले कपड़े और जूतों का दान करें।

मिथुन

फलादेश 2018 के अनुसार इस वर्ष शनि आपकी राशि से सातवें भाव में रहेगा। शनि की यह स्थिति इस वर्ष आपको मिश्रित परिणाम दिलाएगी। आप अपने कार्यक्षेत्र में कठिन परिश्रम करेंगे। इसकी बदौलत कार्य स्थल पर आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। शनि का अशुभ प्रभाव आपके दांपत्य जीवन पर देखने को मिलेगा। इस दौरान आपके वैवाहिक जीवन में कुछ परेशानियां आ सकती हैं। अदालती या क़ानूनी मामले में आपका पलड़ा भारी रहेगा। इसमें फ़ैसला भी आपके हक़ में आ सकता है। इस दौरान भाग्य आपका साथ देगा। इस वर्ष आपको कई शुभ समाचार मिलेंगे। आप लगातार सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ेंगे। घर में माता जी के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है अतः उनकी सेहत का ख़्याल रखें। इस वर्ष आप किसी नए स्थान पर बसने के बारे में सोच सकते हैं। सामाजिक जीवन में भी आपको लाभ मिलेगा। यह आपके आठवें (बड़े बदलाव, जीवन) एवं नौवें (प्रसिद्धि एवं भाग्य) भाव का स्वामी है। जून से अक्टूबर के बीच क़ानूनी विवाद का फ़ैसला आपके हक़ में आ सकता है। आपके स्थान में परिवर्तन हो सकता है।

उपाय: मध्य अंगुली में काले घोड़े की नाल पहनें।


शनि ग्रह की शांति के लिए करें ये उपायः शनि ग्रह के उपाय

कर्क

इस वर्ष शनि आपकी राशि से छठवें भाव में होगा। यह आपके सातवें (जीवनसाथी एवं पार्टनरशिप) एवं आठवें (बड़े परिवर्तन, जीवन) का स्वामी है। क़ानूनी विवाद सामने आ सकते हैं। लंबी दूरी की यात्रा के योग हैं। भाई-बहनों का ख़्याल रखें। इस दौरान पारिवारिक मामलों में आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। परिजनों के साथ किसी मुद्दे पर मतभेद संभव है। जीवनसाथी के साथ भी विवाद गहरा सकता है। इस समय धैर्य का परिचय देते हुए सूझ-बूझ से फ़ैसले लें। इस दौरान रिश्तों पर किसी भी विवाद को हावी नहीं होने दें। बच्चों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वहीं छात्रों को पढ़ाई में रुकावट और चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। इस समय बड़े-बुजुर्गों का सम्मान करें। ऐसी किसी भी अनैतिक अथवा ग़ैरक़ानूनी मामलों में न पड़ें। अन्यथा जेल जाने की नौबत आ सकती है। कोई पुरानी बीमारी पुनः जन्म ले सकती है इसलिए सेहत का ज़रुरी ख्याल रखें। विदेश यात्रा पर जा सकते हैं।

उपाय: पक्षियों को सात तरह के अनाज और दाल खिलाएं।

सिंह

साल 2018 में शनि आपकी राशि से पांचवें भाव में स्थित होगा। यह आपके छठे (संघर्ष, शत्रु, रोग) एवं सातवें (जीवनसाथी एवं पार्टनशिप) भाव का स्वामी है। इस साल शनि के गोचर के प्रभाव से जॉब में परिवर्तन हो सकता है। शनि की यह स्थिति आपके वैवाहिक जीवन को प्रभावित करेगी। इस साल लव मैरिज के योग बन रहे हैं हालांकि कुछ चुनौतियां भी सामने आएंगी। छोटे-मोटे झगड़े और विवादों की वजह से पारिवारिक रिश्ते कमज़ोर हो सकते हैं। प्रेम प्रसंग से संबंधित मामलों के लिए यह साल शुभ है। वक़्त के साथ प्यार और भी गहरा होता जाएगा। आर्थिक क्षेत्र में आय में बढ़ोत्तरी होगी और कार्य स्थल पर सम्मान व प्रसिद्धि मिलेगी। स्थिर आय होने के बावजूद आपको आर्थिक मोर्चे पर परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। धन का ख़र्च सोच-समझकर करें। आर्थिक प्रबंधन इसके लिए बेहतर रहेगा। बैंक या अन्य संस्था से लिया हुआ लोन चुकता हो जाएगा। इस दौरान आप नौकरी छोड़ने के बारे में भी सोच सकते हैं।

उपाय: पीपल के पेड़ के नीचे सरसों तेल का दिया लगाएं।

कन्या

इस वर्ष शनि आपकी राशि से चौथे भाव में स्थित होगा। यह आपके पाँचवें (शिक्षा, बच्चे) एवं छठे (संघर्ष, रोग, शत्रु) भाव का स्वामी है। इस साल आप अपना निवास स्थान बदलने के बारे में सोच सकते हैं। अपने ग़ुस्से पर नियंत्रण रखें, वरना यह आपके लिए उचित नहीं होगा। शनि के इस गोचर के दौरान ऐसे किसी काम में शामिल न हों, जिससे शांति भंग हो। इस समय आपकी माता जी का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। अच्छा होगा कि उनकी सेहत का ख़्याल रखा जाए। परिवार में ज़मीन-जायदाद संबंधी विवाद भी हो सकते हैं। इसके अलावा काम की अधिकता की वजह से स्वयं की सेहत पर ध्यान नहीं दे पाएंगे। इसलिए पर्याप्त नींद लें। कार्य स्थल पर आपके प्रयास सार्थक नहीं हो पाएंगे, ऐसे में निराश न हों। आपके करियर में सुधार होगा लेकिन परिणाम शायद उतने बेहतर न मिलें। सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। सेहत पर ध्यान दें और स्वस्थ्य शरीर के लिए योग व व्यायाम अपनी दिनचर्या में जोड़ें।

उपाय: हर शनिवार हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाएं।


शनि से शुभ फल की प्राप्ति के लिए धारण करें: नीलम रत्न

तुला

इस वर्ष शनि आपकी राशि से तीसरे भाव में होगा। यह आपके चौथे (माता, वाहन, ख़ुशियां) एवं पाँचवें (शिक्षा, बाल-बच्चे) भाव का स्वामी है। इस वर्ष आपकी निर्णय लेने की क्षमता में वृद्धि होगी और आप दृंढ़ निश्चय के साथ सफलता प्राप्त करेंगे। परिवार में छोटे भाई-बहनों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस कारण आपको मानसिक तनाव भी रह सकता है। छोटी या लंबी दूरी की यात्रा पर जाने की संभावना बन रही है। यह यात्रा आपके लिए लाभकारी रहेगी। इस दौरान परिवार में विवाद की स्थिति बन सकती है। हालाँकि आर्थिक क्षेत्र में प्रॉपर्टी से जुड़े मामलों में लाभ की संभावना है। रोजमर्रा की ज़िंदगी में खर्च बढ़ने से परेशानी हो सकती है इसलिए खर्चों पर लगाम लगाएं। छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने का अवसर मिलेगा। समय रहते हुए इस अवसर को भुनाने का प्रयास करें। साल 2018 में शनि गोचर के प्रभाव से आपकी आमदनी में वृद्धि होने की संभावना है।

उपाय: शनिवार को बंदर और काले कुत्ते को लड्डू खिलाएं।

वृश्चिक

शनि गोचर 2018 के अनुसार शनि आपकी राशि से दूसरे भाव में स्थित होगा। यह आपकी राशि के तीसरे (भाई-बहन, प्रयासों, संवाद) एवं चौथे (माता, वाहन, ख़ुशियां) भाव का स्वामी है। शनि की इस भाव में उपस्थिति से पारिवारिक जीवन में क्लेश संभव है। परिजनों के बीच झगड़े और विवादों की स्थिति उत्पन्न होगी। अगर समय रहते हुए आपने इन परिस्थितियों पर काबू नहीं पाया तो आपके रिश्तों में दरार पैदा हो सकती है। इस साल किसी कारणवश आपको परिवार से दूर रहना पड़ सकता है। कार्य स्थल पर आपको बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे और आय में बढ़ोतरी की प्रबल संभावना है। कठिन परिश्रम से अच्छे नतीजे मिलेंगे। कई बेहतरीन अवसर आपके दरवाजे पर दस्तक देंगे। आपका स्वास्थ्य भी कमजोर पड सकता है, पेट से संबंधित समस्या हो सकती है इसलिए संतुलित और अच्छा भोजन करें व अपना ध्यान रखें। अच्छी सेहत के लिए प्रातः योग-व्यायाम करें। इस समय आप कड़ी मेहनत की बदौलत अधिक से अधिक कमाई करने में सक्षम होंगे। परिजनों के साथ आपके रिश्ते मधुर होंगे। आपकी आमदनी में वृद्धि की संभावना है।

उपाय: कुष्ठ रोगियों की सेवा करें।

धनु

इस साल शनि का गोचर आपकी राशि में होगा और यह आपके प्रथम भाव में स्थित होगा। यह आपके दूसरे (धन, कुटुम्ब, भाषण) एवं तीसरे (भाई-बहन, प्रयासों, संवाद) भाव का स्वामी है। ज्योतिषीय दृष्टिकोण से यह समय आपके लिए चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। इस समय आपको मानसिक तनाव और समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हालाँकि पारिवारिक जीवन में आपके भाई-बहनों को खुशियां और समृद्धि प्राप्त होगी। उनकी कामयाबी पर आपको गर्व होने का मौक़ा मिलेगा। विवादों की वजह से जीवनसाथी के साथ रिश्तों में खटास आ सकती है। पत्नी के साथ अच्छा व्यवहार करें और बोलचाल में सतर्कता बरतें। जीवनसाथी को सम्मान दें और उनकी भावना का आदर करें। यदि पहले से कोई बीमारी है जिसका इलाज चल रहा है उसमें लापरवाही न बरतें वरना बड़ी हानि हो सकती है। सेहतमंद रहने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें और स्वयं का ख्याल रखें। इस समय आपके ऊपर काम का बोझ रहेगा जिस कारण आप अपने पारिवारिक जीवन को कम समय दे पाएंगे।

उपाय: शराब और मांसाहार के सेवन से दूर रहें।


शनिवार के दिन करें ये उपाय कष्टों से मिलेगा छुटकाराः शनिवार के उपाय

मकर

इस साल शनि आपकी राशि से बारहवें भाव में होगा। यह आपके लग्न (चरित्र, व्यक्तित्व, जीवन) तथा दूसरे (धन, कुटुम्ब, भाषण) भाव का स्वामी है। यह समय आपके लिए चुनौतीपूर्ण साबित होगा। स्वास्थ्य संबंधी समस्या परेशान कर सकती है। इस दौरान आपको धन हानि हो सकती है। इस साल आपके ख़र्चों में अधिक तेज़ी से वृद्धि होगी। विदेश यात्रा के योग भी बन रहे हैं। आपको कमाई के कई अवसर मिलेंगे। यह समय आपके लिए बहुत अनकूल साबित होगा। समाज में आपको नाम और शोहरत मिलने की संभावना है। इस दौरान मौसमी बीमारी से पीड़ित रह सकते हैं। इसलिए स्वच्छ व संतुलित भोजन करें और नियमित रूप से आराम करें। विदेश से सफलता मिलने के योग हैं। कानूनी मामले और विवादों का सामना करना पड़ सकता है। सोच-समझकर कोई भी फ़ैसला लें।

उपाय: शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ करें व 11 नारियल नदी में प्रवाहित करें।

कुंभ

भाग्यफल 2018 के अनुसार न्याय प्रिय शनि का गोचर आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में होगा। शनि आपके बाहरवें (ख़र्च, हानि) एवं लग्न (चरित्र, व्यक्तित्व, जीवन) भाव का स्वामी है। शनि की यह स्थिति आपके लिए अनुकूल होगी। बेहतर ज़िंदगी को लेकर जो सपना आपने देखा था वो इस साल पूर्ण हो सकता है। आपकी आमदनी में वृद्धि होगी। कार्य स्थल पर हर वक्त अच्छे अवसर मिलेंगे। इस दौरान कामकाज पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी। इस समय में अपने कौशल और साहस का सही दिशा में इस्तेमाल करें। निश्चित ही आपको फिर अच्छे परिणामों की प्राप्ति होगी। यह आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण समय होगा। कड़ी मेहनत के कारण आपको बढ़िया परिणाम मिलेंगे। परिवार में छोटे भाई-बहनों का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। इस समय उनकी सेहत का ख़्याल रखें। आपको सेहत का लाभ मिलेगा। किसी पुरानी बीमारी या कष्ट से छुटकारा मिल सकता है। छात्रों को पढ़ाई में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। प्रेम जीवन में आपको आनंद आएगा। तनाव से बचने के लिए नियमित रूप से योग और प्राणायाम करें।

उपाय: मंदिर में सरसो के तेल का दान करें।

मीन

साल 2018 में शनि आपकी राशि से दसवें भाव में होगा। शनि आपके ग्यारहवें (आय, उपलब्धि) एवं बाहरवें (ख़र्च, हानि) भाव का स्वामी है। आपकी राशि में शनि के इस भाव में होना शुभ नहीं है। परिणाम स्वरूप इस साल आपकी आय में कमी आ सकती है और ख़र्च में अधिक वृद्धि की संभावना है इसलिए धन को बेवजह खर्च करने से बचें। इस दौरान आप नई नौकरी के बारे में सोच सकते हैं। अपने प्रयास जारी रखें और धैर्य व कठिन परिश्रम के महत्व को समझें। देर से ही सही लेकिन सफलता मिलेगी इसलिए संयम बनाये रखें। काम के सिलसिले में विदेश यात्रा पर जा सकते हैं। माता जी की सेहत में कुछ कमी आ सकती है इसलिए उनकी सेहत पर ध्यान दें। व्यस्त दिनचर्या की वजह से जीवन साथी को ज्यादा समय नहीं दे पाएंगे। इसकी वजह से विवाद की स्थिति पैदा होगी इसलिए बेहतर होगा कि जीवन साथी व प्रेमिका को उनके हिस्से का समय दें।

उपाय: शनिवार को काले कुत्ते को कुछ खिलाएं।


शनि की बुरी नज़र से बचने के लिए करें: शनि यंत्र की स्थापना

Buy Your Big Horoscope

100+ pages @ Rs. 650/-

Big horoscope

AstroSage on MobileAll Mobile Apps

AstroSage TVSubscribe

Buy Gemstones

Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com

Buy Yantras

Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com

Buy Navagrah Yantras

Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroSage.com

Buy Rudraksh

Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com

Reports

FREE Matrimony - Shaadi