तुला राशिफल

दैनिक हिन्दी राशिफल (तुला राशि) / Tula Rashifal

Thursday, July 19, 2018
बेकार के ख़यालों में अपनी ऊर्जा बर्बाद न करें, बल्कि इसे सही दिशा में लगाएँ। आप ख़ुद को नए रोमांचक हालात में पाएंगे- जो आपको आर्थिक फ़ायदा पहुँचाएंगे। कोई नया रिश्ता न सिर्फ़ लंबे वक़्त तक क़ायम रहेगा, बल्कि फ़ायदेमंद भी साबित होगा। किसी के साथ ज़रूरत से जल्दी दोस्ती करने से बचें, क्योंकि इसके चलते आपको बाद में पछताना पड़ सकता है। कुछ सहकर्मी कई अहम मुद्दों पर आपकी कार्यशैली से नाख़ुश होंगे, लेकिन यह वे आपको बताएंगे नहीं। अगर आपको लगता है कि परिणाम आपकी उम्मीद के मुताबिक़ नहीं आ रहे हैं, तो अपनी योजनाओं का फिर से विश्लेषण कर उनमें सुधार लाना बेहतर रहेगा। नए विचारों और आइडिया को जाँचने का बेहतरीन वक़्त। अपने रिश्ते को कड़वाहट से बचाने के लिए कभी-कभी चुप रहना ही अच्छा है। आज का दिन आपके धैर्य की परीक्षा ले सकता है।
उपाय :- अपने प्रेमी/प्रेमिका से मिलने जाने से पूर्व हरी इलायची खाकर जाना लव लाइफ के लिए शुभ रहेगा।

आज का दिन

स्वास्थ्य:
धन-सम्पत्ति:
परिवार:
प्रेम आदि:
व्यवसाय:
वैवाहिक जीवन:

तुला राशि दैनिक राशिफल आपको अपने नियमित कार्यों के बारे में जानकारी प्राप्त करने में मदद करेगा। यदि आपका राशिफल तुला है या यूँ कहें कि आप भी तुला राशि के जातक हैं, तो आपको इस दैनिक राशिफल के द्वारा आपकी ज़िन्दगी से जुड़ी किसी भी घटना के होने से पहले निर्देशित किया जाएगा, जिससे आप किसी तरह की परेशानी में न फसें और अपनी असफलता को सफलता में बदल सकें। क्यूंकि यदि हमें किसी भी बुरे घटना के बारे में कोई जानकारी हो जाये, तो हम शायद खुद को पहले ही सावधान कर सकते हैं ताकि उस घटना के कारण किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचे। तुला राशि के दैनिक राशिफल का विश्लेषण करने के लिए पहले तुला राशि के बारे में समझें:

तुला- राशि चिन्ह

तुला राशि, राशि चक्र में सातवें स्थान पर आती हैं। यह राशि सबसे अलग मानी जाती हैं। इसका चिन्ह तराजू के जैसा है, जिसका अर्थ होता है सम्पूर्णता, सुन्दरता एवं संतुलन को समझने की क्षमता रखना। तुला राशी का स्वामी ग्रह “शुक्र” और इसका तत्व वायु होता है। इसका स्वामी ग्रह “शुक्र” होने के कारण इस राशि के लोग सुन्दर चीज़ों से प्रेम करते हैं। ये मात्रा से अधिक गुणवत्ता को प्राथमिकता देते हैं।

तुला- शारीरिक बनावट

  • तुला राशि के जातक औसत कद के होते हैं।
  • इनका चेहरा अंडाकार होता है।
  • इस राशि के लोग आकार में सामंजस्यपूर्ण एवं सुखद दिखने वाला होता हैं।
  • इस राशि के लोगो की आँखें बेहद सुंदर बादाम के जैसी होती हैं, इनकी आँखें किनारे की ओर नुकीली होती हैं।
  • इनकी ठोड़ी वी आकार की होती हैं। इस राशि के लोगों के गाल फूले हुए होते हैं जिसपर डिम्पल पड़ती है।
  • इस राशि के लोगों की गर्दन हंस के जैसी लंबी और सुंदर होती है।
  • अगर वज़न की बात करें तो मध्यम उम्र में इन्हें वजन बढ़ने की समस्या हो जाती है, जिसका कारण किशोरावस्था और युवावस्था के समय नियमित रूप से व्यायाम नहीं करना होता है।
  • तुला राशि के व्यक्ति यदि कहीं मौजूद होते हैं तो उनकी उपस्थिति वहां शिष्टता, आकर्षण और करुणा को प्रदर्शित करती हैं।

तुला- व्यक्तित्व

राशि चक्र के मध्य में स्थित तुला राशि अपने चिह्न के अनुसार पूरी तरह से संतुलन का प्रदर्शन करता है। तुला राशि के जातकों को यह पता होता है कि जीवन का सच्चा अर्थ संतुलन ही हैं। इस राशि के लोग तर्कशील होते हैं और अपनी बुद्धिमत्ता से सिक्के के दोनो पहलुओं को सुक्ष्म तरीके से आकलन करने में सक्षम होते हैं। ये लोग बेहद सामाजिक होते हैं।

इस राशि के जातक अपने गुणों का इस्तेमाल करना जानते हैं। ये लोग नेतृत्वशील होते हैं और दुसरो को यह पता नहीं चलने देते हैं कि ये उनपर ध्यान रख रहे हैं। ये संवेदनशील तो होते ही हैं लेकिन उससे ज्यादा व्यवहारिक होते हैं साथ ही अपने उपर भावनाओं को हावी नहीं होने देते हैं। इस राशि के जातक में बहुत संयम होता है जो विपरीत से विपरीत परिस्थिति में भी खुद को नियंत्रित रख सकते हैं। ये लोग न्यायप्रिय भी होते हैं।

तुला राशि के जातक कुशल रणनीति बनाने वाले होते हैं, इनमें कूटनीति भी भरी होती है। इन्हें टकराव से बचकर रहना पसंद होता है। किसी भी विवाद को बातचीत के द्वारा सुलझाने का हुनर इनमें होता है। इस राशि के लोग मौका देख कर समझौता करने में विश्वास रखते हैं। इस राशि के लोगों को कोई भी निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेना चाहिए।

तुला- रुचियाँ/शौक

तुला राशि के जातको को वाहन का बहुत शौक होता है। इन्हें हरियाली पसंद होती है लेकिन ये महंगे पौधे लगाने का शौक रखते हैं। इन्हें पर्वतारोहण और जंगलों में जाना भी पसंद होता है। इस रहस्य के जातक छुट्टियां मनाना, नृत्य, खेल आदि जैसी रुचियां भी रखते हैं।

तुला- कमियां

  • तुला राशि के लोग अन्य लोगों के समक्ष खुद को छोटा अनुभव करते हैं जिसकी वजह से उन्हें कभी-कभी आलोचना का शिकार होना पड़ता है।
  • इस राशि के जातक भावुक होते हैं और प्रायः उनकी भावुकता उन्हें धोखा दे जाती है।
  • इस राशि के लोग न्याय, जनस्वतंत्रता, जनाधिकार और सौंदर्य से लगाव रखते हैं। कभी-कभी इस कारण उन्हें निराशाओं का सामना करना पड़ता है।
  • तुला राशि का जातक अधिकांश समय चिंतामग्न रहता है।
  • तुला राशि से जुड़े जातक वकीलों, विद्वानों एवं धार्मिक क्षेत्र में नामी लोगों से शत्रुता रखते हैं।
  • इस राशि का व्यक्ति स्वयं अपने लिए संकट उत्पन्न करता है और अपनी मृत्यु का कारण भी स्वयं ही बनता है।
  • इन कमियों को दूर करने के लिए हिन्दू पद्धति में तुला राशि के जातकों के लिए कुछ उपाय बताये गए हैं, जैसे- कष्ट के समय रामरक्षा, गायत्री जप, रामभजन या फिर सत्संग करें और माणिक्य या हीरे में से कोई भी एक रत्न धारण करें।
  • अपने दुखों को दूर करने के लिए आप शंकर, हनुमान, देवी, दत्त या कुल देवता की उपासना और उनका स्मरण करें।
  • तुला राशि के लोगों के लिए सफेद वस्तुओं का दान और शुक्रवार का व्रत हमेशा लाभकारी रहता है। सफेद वस्त्र, सफेद पुष्प, चावल, मिश्री, दूध, सुगन्ध, दही, श्वेत चंदन आदि का दान करना शुभ और फलप्रद है।
  • मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए 'ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः' मंत्र का 1600 बार जाप करें और जल्दी सफलता पाने के लिए इसी मंत्र का 6400 बार जाप करना फायदेमंद रहेगा।

तुला- आर्थिक पक्ष

तुला राशि के लोग व्यापार के क्षेत्र में आगे जाते हैं। अपने इस गुण के कारण ये लोग जिस भी क्षेत्र में व्यापर या व्यवसाय आरंभ करते हैं, उस क्षेत्र में उन्हें शीघ्र ही धन एवं प्रतिष्ठा दोनों की प्राप्ति होती है। इस राशि के जातक का आर्थिक पक्ष ठीक रहता है। इस राशि के लोग खर्चीले, और विदेशों में भ्रमण करने वाले होते हैं। अगर आर्थिक रूप से देखें तो इनका जीवन श्रेष्ठ रहता है और इन्हें धन की कमी कभी नहीं रहती है। कमी होने पर किसी न किसी तरह से उसकी पूर्ति हो जाती है।

तुला- शिक्षा एवं व्यवसाय

तुला राशि के जातक यदि साहित्य, वकालत, चिकित्सा, प्रबंधन, संगीत, नृत्य, चित्रकारी, टेलरिंग, क्राफ्टिंग, आदि जैसे विषयों में अध्ययन करें तो वे विशेष सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

इस राशि के जातक अच्छे व्यापारी होते हैं। इसीलिए ये लोग व्यवसाय के क्षेत्र में काफी सफलता प्राप्त करते हैं। तुला राशि के लोग लोहा, सोना, शराब, तंबाकू, पान, आदि का व्यापार कर विशेष लाभ उठा सकते हैं। अगर व्यवसाय की बात करें तो जिन वस्तुओं को जिन्हें सामाजिक दृष्टि से हीन समझा जाता है उनके व्यवसाय से भी ये लोग लाभ कमाते हैं। इस राशि का जातक भट्टे के काम में भी सफल रहता है। अगरबत्ती, इत्र, परफ्यूम आदि जैसे सुगंध निर्माण से जुड़े व्यवसाय करने पर भी विशेष लाभ प्राप्त होता है। इन राशि के लोगों द्वारा किए गए सभी कार्यों को प्रायः जन-समर्थन प्राप्त होता है।

तुला- प्रेम संबंध

  • तुला राशि के लोगों को दयालु, बुद्धिमान और सावधान व्यक्तियों से प्रेम होता है।
  • रोमांस के क्षेत्र में ये लोग पूर्णता प्राप्त करना चाहते हैं।
  • तुला राशि का जातक सर्वप्रथम बौद्धिक आधार पर प्रेम का अनुभव करना चाहता है। बौद्धिक आधार पर संतुष्टि मिलने पर वह शारीरिक चेतना पकी ओर बढ़ता है।
  • ये लोग अचानक और जल्दी प्रेम कर सकते हैं, लेकिन ये निम्न स्तर के लोगों से प्रेम नहीं कर पाते।
  • तुला राशि के व्यक्ति प्रेम के मामले में गंभीर होते हैं और हमेशा असाधारण लोगों में रुचि दिखाते हैं।
  • प्रेम के अभाव होने पर तुला राशि वालों को अपना जीवन अच्छा नहीं लगता है।
  • इस राशि का व्यक्ति अपने प्रति ध्यान और सहानुभूति चाहता है और वह ऐसे व्यक्ति से ही प्रेम करता है, जो उनकी आवश्यकताओं को समझ सकें।
  • विपरीत लिंग से संबंध के मामले में तुला राशि रोमांटिक होता है।
  • इस राशि के जातक सौंदर्य और संतुलन प्रेमी होते हैं।
  • तुला का वृश्चिक राशि के साथ रोमांस ईर्ष्यालु और संदेहपूर्ण होता है।
  • तुला राशि का सिंह राशि के साथ सम्बन्ध अधिक स्फूर्तिमय, नाटकीय तथा प्रदर्शनप्रिय होता है।
  • धनु के साथ इनके उच्च उद्देश्य और दार्शनिक प्रकृति का मेल बना रहता है।

तुला- विवाह और दांपत्य जीवन

तुला राशि की स्त्री को पति और पुरुष को पत्नी बहुत भाग्यशाली मिलती है। यदि इस राशि का जातक स्त्री के कहने पर चलता है तो इनका जीवन सुखी बन सकता है। इस राशि के दंपति की एक संतान बेहद भाग्यशाली होती है। तुला राशि वाले को एक ऐसे जीवनसाथी की आवश्यकता होती है, जो उसे समझ सके।

तुला राशि के लोगों के एक से अधिक विवाह और वियोगों की संभावनाएं रहती हैं। इनकी मिथुन और कुंभ राशि वालों से अधिक तथा सिंह राशि वालों से कम पटती है। इन लोगों के जीवन में विवाह का बहुत ज्यादा महत्व होता है। इस राशि वाले लोगों का विवाह अधिकांशतौर पर छोटी उम्र में ही हो जाया करता है। इन्हें सामाजिक बंधनों की वजह से प्रेम संबंधों में असफलता मिलती है।

तुला- घर-परिवार

तुला राशि के जातक का जन्म यदि मध्य रात्रि से पहले हुआ हो तो ऐसे लोगों को पिता का सुख कम मिलता है। इन्हें अपने संतानों का सुख भी कम मिलता है और खासकर एक संतान की वजह से इन्हें चिंतित रहना पड़ता है। इस राशि से जुड़े लोगों के पारिवारिक जीवन में थोड़ी उथल-पुथल हो सकती है। इनके परिवार में सौतेली मां और सौतेले भाई-बहन भी हो सकते हैं। इस राशि के व्यक्ति को अपने रिश्तेदारों से ज़्यादा बाहर के लोग सहायता करने वाले होते हैं, लेकिन उन सहायको में एक व्यक्ति हानि पहुंचाने का काम भी करता है।

तुला- इष्ट मित्र

  • तुला राशि वाले लोगों की मिथुन, कन्या, मकर और कुंभ राशि के जातकों से अच्छी मित्रता रहती है।
  • धनु राशि वालों से इनका संबंध सरल रहता है।
  • इस राशि के जातक का मेष राशि के साथ विरोध आकर्षण होता है।
  • कर्क और सिंह राशि से साधारणतौर पर भी शत्रुता हो जाया करती है।
  • वृश्चिक, मीन, कन्या और वृषभ राशि वालों के साथ इनके संबंध उदासीन रहते हैं।
  • तुला के साथ तुला का संबंध बहुत अच्छा होता है। इनसे इन्हें हमेशा सहयोग ही मिलता है।

तुला- स्वास्थ्य और खान-पान

तुला राशि के जातकों को स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं का ज़्यादा सामना नहीं करना पड़ता हैं। इस राशि के लोगों को नितंबों, गुर्दे और मूत्राशय आदि में समस्या हो सकती हैं। जब कोई रिश्ता वैसा नहीं बन पाता जैसा कि ये कहते हैं, तो ये लोग आसानी से कुंठाओं के शिकार भी हो सकते हैं। इस राशि के जातक वजन बढ़ने की समस्या से परेशान रहते हैं। तुला राशि के व्यक्ति को रक्त में शर्करा की मात्रा पर ध्यान रखना चाहिए।

खान-पान के लिहाज़ से तुला राशि वालों को उच्च कैलोरी खाद्य पदार्थ और शराब से दूर रहना चाहिए। स्वस्थ रहने के लिए इन्हें निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल करना चाहिए- ब्राउन चावल, बादाम, मटर, चुकंदर, मकई, जई का आटा, स्ट्रॉबेरी, किशमिश, सेब, पालक आदि। इन्हे ओमेगा 3 एसिड को भी अपने भोजन में शामिल करना चाहिए जैसे-समुद्री भोजन। तुला राशि वालों को मीठे और स्टार्च युक्त चीज़ों से दूर रहना चाहिए। किडनी से जुड़ी हुई समस्या से निजात पाने के लिए इन्हे ज़्यादा चीनी, शराब और कार्बोनेटेड ड्रिंक्स से बचना चाहिए। पीने का पानी हमेशा शुद्ध होना चाहिए और घर में एक अच्छी गुणवत्ता वाला वाटर फिल्टर रखना चाहिए।

तुला- भाग्यशाली अंक

6 अंक तुला राशि वाले जातकों के लिए भाग्यशाली होता है इसीलिए 6 अंक की श्रृंखला 6, 15, 24, 33, 42, 51, 60, 69… इनके लिए शुभ होती है। इनके अलावा 4, 5, 8 अंक शुभ, 3, 7, 9 अंक सम और 1, 2 का अंक अशुभ होता है। यदि आप इन अंकों को ध्यान में रखकर कार्य करें तो यह अवश्य लाभकारी होगा।

तुला- भाग्यशाली रंग

अगर रंग की बात करें तो तुला राशि वालों के लिए सफेद और हल्का नीला भाग्यशाली रंग होता है। इन रंगों के वस्त्र पहनने से मानसिक शांति रहती है। तुला राशि वाले लोगों के लिए जेब में हमेशा सफ़ेद रंग का रुमाल रखना बहुत फायदेमंद होता है। सफेद, हल्का नीला, भूरा या क्रीम रंग को अपने कपड़ों में किसी न किसी रूप में अवश्य रखें।

तुला- भाग्यशाली दिन

तुला राशि का 'शुक्र' ग्रह से निकट का संबंध है। इस कारण इस राशि के जातकों के लिए भाग्यशाली दिन शुक्रवार होता है। इस दिन ये विशेष प्रसन्न रहते हैं। इनके लिए कभी-कभी शनिवार और सोमवार का दिन शुभ होता है जबकि रविवार और बुधवार अशुभ होता है। जिस दिन कुम्भ राशि का चंद्रमा हो उस दिन महत्व का कार्य शुरू नहीं करना चाहिए।

तुला- भाग्यशाली रत्न

तुला राशि वाले लोगों के लिए “हीरा” भाग्यशाली रत्न होता है। इसीलिए शुक्र खराब रहने पर इसे पहनना चाहिए। आप एक रत्ती का हीरा चांदी या प्लेटीनम में जड़वाकर शुक्रवार के दिन शुभ मुहूर्त में मध्यमा अंगुली में धारण करें तो यह अधिक लाभप्रद रहता है।

ऊपर हमने तुला राशि के जातकों से जुड़ी शारीरिक बनावट, व्यक्तित्व, शौक, कमियां, खूबियां, परिवार, प्रेम संबंध जैसे हर एक पहलु को अच्छे से जाना। आशा करते हैं कि एस्ट्रोसेज द्वारा दी गयी जानकारी आपको तुला राशि के लोगों को समझने में मददगार सिद्ध होगी।

एस्ट्रोसेज मोबाइल पर सभी मोबाइल ऍप्स

एस्ट्रोसेज टीवी सब्सक्राइब

ज्योतिष पत्रिका

रत्न खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रत्न, लैब सर्टिफिकेट के साथ बेचता है।

यन्त्र खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम के विश्वास के साथ यंत्र का लाभ उठाएँ।

फेंगशुई खरीदें

एस्ट्रोसेज पर पाएँ विश्वसनीय और चमत्कारिक फेंगशुई उत्पाद

रूद्राक्ष खरीदें

एस्ट्रोसेज डॉट कॉम से सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता वाले रुद्राक्ष, लैब सर्टिफिकेट के साथ प्राप्त करें।