Personalized
Horoscope
  • AstroSage Big Horoscope
  • Year Book
  • Raj Yoga Report
  • Shani Report

जानें आखिर क्या है लाल किताब और इससे जुड़े उपायों के बारे में।

लाल किताब वैदिक ज्योतिषशास्त्र की एक अहम शाखा है। सन 1939 से 1952 के बीच पांच किताबों को मिलाकर लिखी गई जिसे लाल किताब का नाम दिया गया। ज्योतिषशास्त्र में पहली बार पुरानी उर्दू भाषा में लिखी गई लाल किताब एक नए तरीके से राशिफल का विश्लेषण करने के साथ ही आपको आसान उपायों के बारे में भी बताती है। इस किताब को किसने लिखा था इस बारे में कहना मुश्किल है। हालाँकि, हमारे कुछ अहम स्रोतों से मिली जानकारी के अनुसार इस किताब को पंडित रूप चंद्र जोशी ने लिखा था।

लाल किताब का महत्व

हैरानी की बात यह है कि लाल किताब मानव जीवन के ज्वलंत आयामों पर पर्याप्त प्रकाश डालती है जिनकी शास्त्रीय ज्योतिष में कभी चर्चा नहीं की गई थी। लाल किताब अपने शास्त्रीय समकक्षों की तुलना में आधुनिक जीवनशैली और दिन प्रतिदिन घटित होने वाली घटनाओं के बारे में ज्यादा जानकारी देती है जिसे पहले शास्त्रीय ज्योतिष में खोजना काफी मुश्किल था। इस बात का ध्यान रखना काफी आवश्यक है कि हस्तरेखा विज्ञान,वास्तु और फेनोलॉजी भी लाल किताब की ही देन है। सभी व्यापक विषयों की जानकारी देने की वजह से लाल किताब को प्राचीन हिन्दू संहिता जैसे की वृहत संहिता और नारद संहिता की श्रेणी में रखा है।

लाल किताब का उपयोग

लाल किताब में दिए उपायों का पालन करना काफी आसान, सस्ता और जल्द फल देने वाला होता है। लाल किताब में बताए गए उपायों का फल अविश्वसनीय है। ऐसा कहा जाता है कि इस किताब में बताए गए उपाय पारंपरिक रूप से कलयुग में अच्छे परिणाम पाने के लिए उपयुक्त हैं। आजकल हवन, यज्ञ, जप और मंत्र के प्रयोग मात्र से अच्छे परिणामों की उम्मीद करना काफी कठिन है। ऐसे में इस किताब में बताए गए उपायों को करना उतना ही आसान है जितना की पानी में कंकड़ फेंकना या घर की चीजों को सही जगह पर रखना। हालाँकि लाल किताब में बताए गए उपायों को करते वक़्त थोड़ी सावधानी रखना काफी आवश्यक होता है क्योंकि अगर इसे बिना पढ़े या भली-भांति सही विधि पूर्वक न किया जाए तो इसके दुर परिणाम भी भुगतने पड़ सकते हैं। यही कारण है कि जब आप लाल किताब से संबंधित कोई परामर्श लेते हैं तो आपको विशेष रूप से सावधान रहने की भी आवश्यकता पड़ सकती है। ऐसी सलाह दी जाती है कि जब भी आपको उपायों का पालन करते समय कोई अशुभ फल मिले तो उसे वहीं पर रोक देना ही हित कर होता है। तथ्य के रूप में, लेखक द्वारा उपयोग की जाने वाली अपनी रहस्यमय और प्रतिभाशाली भाषा के कारण लाल किताब को समझना बहुत कठिन और बोझिल है। फ़ार्मेशन के पीछे तर्क, लाल किताब के दोहे और उसके उपाय / उपाय भी समझना मुश्किल है। हालाँकि, काफी वर्षों से इस किताब के साथ जुड़े रहने के बाद हमारे विचार से इस क्षेत्र में अच्छी पकड़ और ज्ञान रखने वाले ज्योतिषियों की संख्या काफी कम है। इस विषय में मूल ज्ञान की कमी की वजह से अक्सर लोग ठगी के हाथों भ्रमित हो जाते हैं जो उनकी इस अज्ञानता का फायदा उठाना चाहते हैं।

आखिर में लाल किताब में आज भी ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं जिसके बारे में लोगों को जानकारी नहीं मिल पायी है। यानी लाल किताब में बहुत सारे विषय और क्षेत्र ऐसे हैं जो अभी भी अनदेखे हैं और जिन पर प्रकाश डालना अभी बाकी है। लाल किताब को डिकोड करने के लिए हमारी संस्था द्वारा एक शोध किया जा रहा है ताकि मानव जाति को इसका अधिकतम लाभ मिल सके। यदि आप इसे सीखना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अधिक जानकारी के लिए पुस्तक संसाधन अनुभाग को देखना अनिवार्य होता है। यदि आप हमारे लाल किताब विशेषज्ञ पैनल से सहायता प्राप्त करना चाहते हैं, तो कृपया हमारे लाल किताब परामर्श विभाग से संपर्क करें।

लाल किताब के साथ हमारा जुड़ाव:

हमने लाल किताब के लिए शोध समुदाय की स्थापना की है जो लाल किताब को डिकोड करने और इसके रहस्यों को उजागर करने की कोशिश कर रहा है। यदि आप लाल किताब के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस लिंक पर क्लिक करके इसके बारे में सही जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। हमारी सॉफ्टवेयर कंपनी, एस्ट्रोकैंप इस बारे में जानकारी देने के लिए सभी आवश्यक संसाधन और तकनीकी प्रदान कर रही है। आप इस लिंक पर क्लिक करके एस्ट्रोकैंप वेबसाइट पर पहुँच सकते हैं।

.

Lalkitab

Buy Your Big Horoscope

100+ pages @ Rs. 650/-

Big horoscope

AstroSage on MobileAll Mobile Apps

AstroSage TVSubscribe

Buy Gemstones

Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com

Buy Yantras

Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com

Buy Feng Shui

Bring Good Luck to your Place with Feng Shui.from AstroSage.com

Buy Rudraksh

Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com

Reports