Personalized
Horoscope

सूर्य का मेष में गोचर ( 14 अप्रैल - 14 मई, 2017 )

पृथ्वी पर मानव जीवन का अस्तित्व सूर्य के बिना असंभव है इसलिएसूर्य को जगत की आत्मा कहा गया है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य एक ऐसा ग्रह है जो साहस, शक्ति, आत्मा और राजसी गौरव को दर्शाता है। यदि जातक की कुंडली में सूर्य अच्छा हो तो यह उसके स्वभाव में आध्यात्मिकता को प्रकट करता है और उसके व्यक्तित्व को निखारता है। सूर्य के सकारात्मक प्रभाव से ही व्यक्ति के अंदर निरंकुश स्वभाव और आतंकी मानसिकता समाप्त हो जाती है।

Surya ka mesha mein gochar 2017

14 अप्रैल 2017 शुक्रवार को रात्रि 02 बजकर 18 मिनट पर सूर्य मेष राशि में गोचर करेगा और 14 मई 2017 रात्रि 11 बजकर 11 मिनट तक इसी राशि में स्थित रहेगा। सूर्य के इस गोचर का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ेगा। तो चलिए इस राशिफल के ज़रिए डालते हैं उन प्रभावों पर एक नज़र।

यह भविष्यफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र जानने के लिए क्लिक करें: चंद्र राशि कैल्कुलेटर

Click here to read in English...

मेष

सूर्य का गोचर चूंकि आपकी राशि में हो रहा है इसलिए इसका आप पर गहरा प्रभाव पड़ेगा। इस दौरान आपको सरकारी कामकाज में लाभ मिलने की प्रबल संभावना दिखाई दे रही है। इसके अलावा आपके स्वभाव में उत्तेजना भी देखी जा सकती है। करियर अथवा व्यसाय में आपका कद बढ़ सकता है। बौद्धिक रूप से लाभ पाने के लिए यह उत्तम समय हो सकता है। यह गोचर आपके पिताजी के लिए भी अनुकूल साबित हो सकता है।

उपाय: शनिवार के दिन ज़रुरतमंद मरीज़ों को दवा बाँटें।

वृषभ

सूर्य आपकी राशि से बाहरवें भाव में संचरण करेगा, जिसके कारण आपके विदेश यात्रा पर जाने के योग हैं, हालाँकि जो जातक पहले ही विदेश में हैं उनके करियर की गाड़ी में गति देखने को मिलेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से गोचर आपको सावधान रहने के संकेत दे रहा है, क्योंकि इस दौरान आपको बुखार, सिरदर्द जैसी तकलीफ़ से गुजरना पड़ सकता है। इन सबके अलावा आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे। प्रॉपर्टी की ख़रीदारी भी आप गोचर के दौरान कर सकते हैं। व्यय में अधिकता दिखाई दे रही है अतः सोच-समझकर पैसे ख़र्च करें।

उपाय: पार्क अथवा मंदिर परिसर में श्वेतार्क का पौधा लगाएँ।

मिथुन

मिथुन राशि में इस गोचर के प्रभाव की बात की जाए तो, सूर्य आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में प्रवेश करेगा। इस दौरान आपकी आमदनी में वृद्धि होने की संभावना है। इसके साथ ही समाज में आपकी ख़्याति बढ़ेगी। आप अपने अच्छे फ़ैसलों से लाभान्वित होंगे। वहीं ज़रुरत पड़ने पर भाई-बहन का सहयोग आपको प्राप्त होगा। वे आपकी मदद को तैयार रहेंगे। यह गोचर आपकी कोई दीर्घ समय से लंबित आशा को पूर्ण कर सकता है। प्रेम जीवन में आपको उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है, परंतु परिवार में आपके बड़े भाई-बहन समय का पूरा आनंद लेंगे।

उपाय: अपनी नग्न आँखों से उगते हुए सूर्य को देखें।

कर्क

यदि आपकी राशि में सूर्य के इस गोचर का अवलोकन किया जाए तो सूर्य आपकी राशि से दसवें भाव में जाएगा। जिसके परिणाम स्वरूप आपको इसके अनुकूल परिणाम मिलेंगे। कार्य क्षेत्र में आपका कद बढ़ सकता है। अपने कर्म के प्रति आपका जज़्बा बढ़ेगा, लेकिन इस दौरान यह भी देखने को मिल सकता है कि आप स्वभाव से घमंडी हो जाएँ। आपके व्यक्तित्व में पराक्रम और शौर्य नज़र आएगा। सरकारी काम-काज को लेकर आपको निराश नहीं होना पड़ेगा। इन सबके बीच माता की सेहत का ख़्याल रखें, क्योंकि उनकी सेहत में गिरावट होने की संभावना है और यह आपके लिए मानसिक तनाव का कारण बन सकता है। जहाँ तक आपके व्यवसाय की बात है तो इसमें भी आपको सुखद परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। शत्रु पक्ष आप से भयभीत रहेगा।

उपाय: रोजाना हनुमान चालीसा का पाठ करें।

सिंह

सूर्य आपकी राशि से नौवें भाव में प्रवेश करेगा। जिसके कारण समाज में आपका सम्मान बढ़ेगा। किस्मत का साथ मिलने के कारण परिस्थितियाँ आपके अनुकूल हो जाएंगी। लंबी यात्रा आपके लिए फायदेमंद रह सकती है। समाज में अपनी सक्रियता बढ़ाने के लिए आप दान-दक्षिणा में भी अग्रणी रह सकते हैं। परिवार में पिताजी के साथ आपका वैचारिक मतभेद हो सकता है, लेकिन गोचर आपके पिताजी के लिए अच्छा साबित हो सकता है। भाई-बहन के साथ छोटी-मोटी कहासुनी हो सकती है।

उपाय: प्रतिदिन सूर्य मंत्र का जाप करें।

कन्या

सूर्य आपकी राशि से आठवे भाव में गोचर करेगा जिसके कारण आपको शारीरिक समस्याएँ हो सकती हैं। आपको बुखार, सिर दर्द के अलावा अन्य बीमारियाँ का सामना करना पड़ सकता है, साथ ही आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी और किसी अनचाही यात्रा पर भी जाना पड़ सकता है। ध्यान रखें, हर किसी के साथ अपनी बातों को साझा नहीं करें। यदि आप शादीशुदा हैं तो ससुराल पक्ष के साथ आपके रिश्ते मधुर हो सकते हैं। जीवन साथी से आपको आर्थिक लाभ मिल सकता है। किसी ग़ैर क़ानूनी गतिविधियों में संलिप्त न हों, अन्यथा आप बड़ी मुसीबत में फँस सकते हैं।

उपाय: प्रतिदिन भगवान शिव की आराधना करें।

सूर्य ग्रह के विभिन्न भावों में प्रभाव को जानने के लिए क्लिक करें

तुला

सूर्य आपकी राशि से सातवे भाव में संचरण करेगा। इस दौरान आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। जीवन साथी की मदद से भी आपको आर्थिक लाभ संभव है। हो सकता है कि इस दौरान वह आप पर हावी रहे परंतु आपके लिए सलाह है कि आप अपने जीवन साथी के साथ बहसबाज़ी न करें। इस दौरान कोई नया रिश्ता बन सकता है। प्रोफ़ेशनल लाइफ़ में भी आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होने की उम्मीद है।

उपाय: बैल को गेहूँ खिलाएँ।

वृश्चिक

सूर्य आपकी चंद्र राशि से छठवे भाव में गोचर करेगा। ऐसे में आपके स्वभाव में साहस की वृद्धि होगी और आप किसी भी चुनौती को सहर्ष स्वीकार करने से पीछे नहीं हटेंगे। आप अपने विरोधियों अथवा शत्रुओं को आसानी से पराजित कर सकते हैं। कार्य क्षेत्र में भी आपको शुभ समाचार मिलने की संभावना है। सीनियर्स आपकी सहायता के लिए अागे आएंगे। हालाँकि गोचर के दौरान आपका ख़र्च थोड़ा बढ़ सकता है। कोर्ट-कचहरी के मामले में फ़ैसला आपके पक्ष में आ सकता है।

उपाय: सूर्य देव को रोज़ाना जल चढ़ाएँ।

धनु

सूर्य आपकी राशि से पाँचवे भाव में गोचर करेगा। जिसके प्रभाव से आपकी आय में वृद्धि होगी। बच्चे पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। प्रेम संबंध में आपका अहंकार दखल दे सकता है, जिससे इस रिश्ते में तल्ख़ियाँ बढ़ सकती हैं। नौकरी में परिवर्तन का विचार आप बना सकते हैं। वहीं भाई-बहन की मदद से आपको आर्थिक लाभ होने की संभावना है। छात्रों के लिए यह गोचर बहुत ही बढ़िया रह सकता है।

उपाय: भगवान शिव की आराधना करें।

मकर

सूर्य आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेगा। आप अपने परिजनों के ऊपर हावी होने का प्रयास कर सकते हैं, जिससे आपका पारिवारिक माहौल बिगड़ सकता है। माता जी की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है। वहीं कार्य क्षेत्र में आपका प्रदर्शन काबिल-ए-तारीफ़ होगा। सीनियर्स आपके कार्य की जमकर तारीफ़ करेंगे। अचानक ही आपको कोई ख़ुशख़बरी मिल सकती है।

उपाय: शनि देव को सरसो का तेल चढ़ाएँ।

कुंभ

सूर्य आपकी राशि से तीसरे भाव में संचरण करेगा। इस गोचर के प्रभाव से आप ऊर्जावान रहेंगे। जीवन साथी की मदद से आपको आर्थिक लाभ मिल सकता है। आपकी संवाद शैली में सकारात्मक बदलाव देखने को मिल सकता है, जिसकी सहायता से आप दूसरों पर अपनी छाप छोड़ने में सफल रहेंगे। आप अपने लक्ष्य के प्रति संकल्पबद्ध एवं महत्वकांक्षी रहेंगे। गोचर के दौरान आप किसी छोटी यात्रा पर जा सकते हैं। पिता जी की सेहत में थोड़ी गिरावट आ सकती है।

उपाय: पीपल के वृक्ष पर पानी चढ़ाएँ।

मीन

सूर्य आपकी राशि से दूसरे भाव में संचरण करेगा। इस दौरान आपकी भाषा में कड़वापन रह सकता है, जिससे कुछ लोग आपसे नाराज़ अथवा दुःखी हो सकते हैं। रिश्तों पर भी इसका ख़ासा प्रभाव देखने को मिल सकता है। स्वास्थ्य को लेकर भी आपको परेशानी से गुज़रना पड़ सकता है। आपको तनाव आदि की शिकायत रह सकती है। सरकार की ओर से आपको लाभ मिलने की संभावना है। वहीं ऐसी भी संभावना है कि गोचर के दौरान आपको किसी से पैसे उधार लेने पड़ें। मामा जी से आपको आर्थिक मदद मिल सकती है। हालाँकि ससुराल पक्ष से रिश्ते थोड़े तल्ख़ रह सकते हैं।

उपाय: पीपल के वृक्ष पर जल चढ़ाएँ।

नि: शुल्क डाउनलोड करें 50 पेज की जन्म कुंडली

2017 गोचर

मंगल का मकर में गोचर मंगल वृश्चिक में वक्री मंगल का वृश्चिक में गोचर मंगल का तुला राशि में गोचर मंगल का कन्या में गोचर मंगल का सिंह राशि में गोचर मंगल अस्त मेष राशि में मंगल का मेष में गोचर मंगल का मीन में गोचर मंगल का मिथुन में गोचर मंगल का वृषभ में गोचर मंगल का वृषभ में गोचर मंगल का गोचर कुम्भ राशि में शनि वृश्चिक में अस्त शनि वक्री वृश्चिक में वृश्चिक राशि में शनि उदय सूर्य का तुला राशि में गोचर सूर्य का मीन में गोचर सूर्य का कुम्भ में गोचर सूर्य का मकर में गोचर सूर्य का धनु राशि में गोचर सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर सूर्य का कन्या राशि में गोचर सूर्य का सिंह राशि में गोचर सूर्य का कर्क में गोचर सूर्य का मिथुन में गोचर सूर्य का वृषभ में गोचर सूर्य का मेष में गोचर सूर्य का वृषभ में गोचर सूर्य का मिथुन में गोचर
धनु राशि में शुक्र का गोचर शुक्र का वृश्चिक में गोचर शुक्र का कन्या में गोचर शुक्र कर्क में मार्गी शुक्र का मीन में गोचर शुक्र का कुम्भ में गोचर शुक्र का मकर में गोचर शुक्र मेष में अस्त शुक्र का वृश्चिक में गोचर शुक्र का तुला में गोचर मंगल का कर्क में गोचर अस्त शुक्र का कर्क में गोचर शुक्र सिंह राशि में वक्री शुक्र का वृषभ में गोचर शुक्र का मेष में गोचर शुक्र का सिंह में गोचर शुक्र का मिथुन में गोचर शुक्र का कर्क में गोचर शुक्र का मिथुन में गोचर शुक्र का वृषभ में गोचर शुक्र का वृश्चिक में गोचर वृश्चिक राशि में शुक्र उदय गुरु कन्या राशि में वक्री गुरु का सिंह में गोचर गुरु सिंह राशि में अस्त गुरु कर्क राशि में मार्गी कर्क राशि में बृहस्पति वक्री गुरु कर्क राशि में मार्गी शनि धनु राशि में वक्री

Buy Your Big Horoscope

100+ pages @ Rs. 299/-

Big horoscope

AstroSage on MobileAll Mobile Apps

AstroSage TVSubscribe

Buy Gemstones

Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com

Buy Yantras

Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com

Buy Navagrah Yantras

Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroSage.com

Buy Rudraksh

Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com

Reports

FREE Matrimony - Shaadi