Personalized
Horoscope

बुध का मीन राशि में गोचर (11 मार्च 2017)

वैदिक ज्योतिष शास्त्र में बुध ग्रह को शुभ ग्रह माना गया है। बुध तर्क शक्ति, गणित, संचार, लेखन, व्यापार, वाणी और बुद्धि का कारक होता है। बुध स्वभाव से युवा और सात्विक ग्रह है। बुध ग्रह सर्वदा बलि होता है। यह अच्छे ग्रहों के साथ शुभ फल देता है लेकिन क्रूर ग्रह का साथ मिलने पर बुरा फल देता है। बुध ग्रह त्रिदोष यानि वात, पित्त और कफ का कारक भी होता है। शुक्र और शनि बुध के मित्र हैं जबकि मंगल और चंद्रमा से शत्रुवत व्यवहार रखता है। बुध मीन राशि में नीच प्रभाव देता है। रंगों में हरा रंग और रत्नों में पन्ना बुध की प्रिय वस्तु है।


11 मार्च को बुध ग्रह मीन राशि में प्रवेश करने वाला है। इस दौरान बुध मीन राशि में 27 मार्च तक गोचर करेगा। इसके बाद मेष राशि में प्रवेश करेगा। बुध के इस गोचर का सभी राशियों पर असर होगा। हर राशियों पर होने वाले इसके प्रभाव कुछ इस तरह होंगे।

Click here to read in English...

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें।

मेष

बुद्धि और वाणी का कारक बुध ग्रह आपकी राशि से बारहवे भाव में गोचर करेगा। बारहवें भाव में बुध का गोचर करना आपके लिए बेहद लाभकारी सिद्ध होगा। इस अवधि में तरक्की के कई अवसर मिलेंगे हालांकि खर्चों में बढ़ोतरी भी होगी। बुध के प्रभाव से आप विरोधियों और प्रतिद्वंदियों पर हावी रहेंगे। वे छात्र जो प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उन्हें सफलता मिलने की संभावना है। इस दौरान आप किसी अदालती या कानूनी प्रकरण में फंस सकते हैं इसलिए बेवजह विवाद करने से बचें। इस अवधि में कोई बड़ा आर्थिक निर्णय लेने से बचें। क्योंकि यह समय निवेश और आर्थिक संबंधी मामलों के लिए अनुकूल नहीं है। बैंक या किसी अन्य संस्था से पर्सनल लोन लेने के बारे में विचार कर सकते हैं। अगर आपकी विदेश में बसने की योजना है, तो इस मामले में भाग्य आपका साथ देगा। परिवार या दोस्तों के साथ लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं।

उपाय- भगवान शंकर की आराधना करें।

वृषभ

बुध ग्रह आपकी राशि से ग्यारहवे भाव में गोचर करेगा। यह इस बात का संकेत है कि आप किसी नए व्यवसाय की शुरुआत या निवेश कर सकते हैं। नौकरी और व्यवसाय में अचानक लाभ मिलने की संभावना है। कार्य स्थल पर सीनियर्स का सहयोग मिलेगा। आय में बढ़ोतरी होगी और आपका सामाजिक दायरा बढ़ेगा। अगर किसी के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है तो प्रियतम के साथ संबंध और मधुर होंगे लेकिन वैवाहिक जीवन में छोटे-मोटे विवाद हो सकते हैं। दोस्तों के साथ अच्छा समय गुजारेंगे। छात्रों के साथ पढ़ाई-लिखाई में आ रही अड़चनें दूर होंगी। इसके अलावा नौकरी और व्यवसाय के क्षेत्र में कई अच्छे अवसर मिलेंगे।

उपाय- रोजाना गौ माता की सेवा करें।

मिथुन

लेखन और संचार का कारक कहा जाने वाला बुध ग्रह आपकी राशि से दसवे भाव में गोचर करेगा। बुध के दसवें भाव में होने से एकाग्रता में वृद्धि होगी और आपका ध्यान सिर्फ काम पर रहेगा। पारिवारिक जीवन में शांति व सद्भाव बना रहेगा और रिश्तों में सुधार होगा। अगर आप घर के पुनर्निर्माण के बारे में योजना बना रहे हैं तो इस अवधि में कोई फैसला ले सकते हैं। मां की सेहत में सुधार होने से चिंता कम होगी। महिला पक्ष से सहयोग मिलने की उम्मीद है। किसी भी मुद्दे पर बेवजह बयान बाजी करने से बचें। गुस्से पर नियंत्रण और संयमित आचरण रखें। जीवन साथी हर पल आपकी मदद के लिए तैयार रहेगा। बुध के प्रभाव से सद्बुुद्धि मिलगी और आप के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा। इस अवधि में अनैतिक कार्य करने से बचें।

उपाय- भगवान विष्णु को पीला चंदन चढ़ाएं।

कर्क

बुध ग्रह आपकी राशि से नौवे भाव में गोचर करेगा। यह स्थिति दर्शाती है कि यह समय आपके लिए लाभकारी होगा। इस अवधि में आपको विदेश से कोई खुशखबरी मिल सकती है। आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर भी जा सकते हैं। बुध के प्रभाव से लेखन, कला और अभिनय की ओर झुकाव बढ़ेगा। वे लोग जो मीडिया और ग्लैमर की दुनिया से जुड़े हैं उन्हें इस अवधि में जबर्दस्त कामयाबी मिलेगी। इस अवधि में आपके भाई-बहनों की किस्मत चमक सकती है। इसके अलावा भाई-बहनों की ओर से आपको आर्थिक मदद मिल सकती है। अगर आपके मन में उच्च शिक्षा को लेकर कोई उत्सुकता है तो इस अवधि में यह इच्छा और बढ़ेगी।

उपाय- मां की सेवा करें और उनका ध्यान रखें।

सिंह

बुध ग्रह आपकी राशि से आठवे भाव में गोचर करेगा। बुध का आठवें भाव में गोचर करना आपके लिए सामान्य रहेगा। इस दौरान आपको अच्छे और बुरे दोनों तरह के अनुभवों का सामना करना पड़ सकता है। जहां एक और धन हानि हो सकती है वहीं दूसरी ओर अचानक किसी आर्थिक लाभ की संभावना है। इस अवधि में आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। कार्य स्थल पर वरिष्ठ सहकर्मियों के साथ तालमेल बनाकर चलना होगा। पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में कूटनीतिक व्यवहार करने से बचें वरना यह आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इस दौरान महिलाओं के साथ आपके संबंध अच्छे होंगे। आपके अंदर अहंकार की प्रवृत्ति बढ़ सकती है इसलिए स्वभाव में विनम्रता बनाए रखें। इस अवधि में काम की अधिकता से मानसिक तनाव बढ़ेगा और सेहत पर इसका बुरा असर पड़ सकता है, इसलिए बेहतर होगा कि तनाव को खुद पर हावी ना होने दें।

उपाय- सूर्य देव को जल चढ़ाएं।

कन्या

बुध ग्रह आपकी राशि से सातवे भाव में गोचर करेगा। यह समय आपके वैवाहिक और प्रेम संबंधों के लिए बेहद अच्छा रहने वाला है। इस दौरान आपके मन में जीवन साथी के प्रति प्यार व समर्पण का भाव और बढ़ेगा। वहीं आपका जीवन साथी भी हर दम आपकी मदद करने के लिए तैयार रहेगा। इस अवधि में आप मन की बात अपने पार्टनर से शेयर करने में कामयाब रहेंगे। अपनी दिल की बात पार्टनर के साथ साझा करने पर आपके रिश्ते और मधुर होंगे। प्रेमी युगल और वैवाहिक लोग एक-दूसरे के साथ बेहद अच्छे पल गुजारेंगे। वे लोग जो कला के क्षेत्र से जुड़े हैं उन्हें बुध के प्रभाव से सफलता मिलेगी। नया व्यवसाय या पार्टनरशिप में बिज़नेस की शुरुआत करने के लिए यह समय बेहद अनुकूल है। आपकी व्यवसायिक प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी। इसके अलावा आपके जीवन साथी को भी लाभ मिलने की संभावना है।

उपाय- गुरुवार के दिन बुज़ुर्ग ब्राह्मण को भोजन कराएं।

तुला

बुध ग्रह आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेगा। बुध का छठे भाव में गोचर करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इस अवधि में कार्य स्थल पर आपको संघर्ष करना पड़ सकता है हालांकि कड़ी मेहनत से आप लक्ष्यों को प्राप्त कर लेंगे। आर्थिक दृष्टि से भी बुध का यह गोचर चिंताजनक हो सकता है क्योंकि इस दौरान आर्थिक नुकसान की आशंका नज़र आ रही है। बिना योजना के अचानक किसी यात्रा पर जाना पड़ सकता है। इस अवधि में आप और आपके जीवन साथी की सेहत गड़बड़ा सकती है इसलिए सेहत पर खास ध्यान दें। कार्य क्षेत्र में सफलता मिलने के योग बन रहे हैं। महिलाओं से मतभेद हो सकते हैं इसलिए बेवजह के विवादों से बचने की कोशिश करें। ननिहाल पक्ष के लोगों से मिलने की योजना बना सकते हैं।

उपाय- बहन को गिफ्ट देकर उन्हें खुश करें।

जानें अंक ज्योतिष के अनुसार आपके लिए कैसा रहेगा साल 2017 ?

वृश्चिक

बुध आपकी राशि से पांचवे भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में बुध के प्रभाव से आप अपने प्रेम संबंध को लेकर बेहद खुश रहेंगे। इस दौरान आप लव पार्टनर से कोई खास वादा कर सकते हैं। लव मैरिज के भी योग बन रहे हैं। बुध के प्रभाव से छात्रों को बड़ी सफलता हाथ लग सकती है। पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने के लिए नियमित प्राणायाम छात्रों के लिए बेहद लाभकारी साबित होगा। बुध के गोचर की इस अवधि में वैवाहिक संबंधों में सुधार होगा और रिश्ते पहले की अपेक्षा और भी मजबूत होंगे। बेवजह के विवादों से बचने की कोशिश करें वरना इन विवादों का आपके रिश्तों पर बुरा असर पड़ सकता है। इस दौरान अचानक कहीं से लाभ प्राप्त हो सकता है। आप लॉटरी में किस्मत आज़मा सकते हैं।

उपाय- भगवान बाल कृष्ण को माखन-मिश्री का भोग लगाकर, बच्चों में प्रसाद बांटे।

धनु

बुध ग्रह आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेगा। चतुर्थ भाव में बुध का गोचर करना शुभ संकेत की ओर इशारा कर रहा है। इस अवधि में आप मकान या नया वाहन खरीद सकते हैं। आपके जीवन साथी को सर्विस और व्यवसायिक क्षेत्र में सफलता मिलने के योग बन रहे हैं। अगर मां की तबीयत खराब चल रही है तो इस अवधि में उनकी सेहत में सुधार देखने को मिलेगा। कार्य स्थल पर आपकी सोच और समझ की वजह से आपको नई पहचान मिलेगी, साथ ही सम्मान में वृद्धि होगी। बुध के इस गोचर के दौरान आपके अंदर संतुष्ठि का भाव नज़र आएगा। इसके अलावा बुध के प्रभाव से पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में आपको तरक्की मिलेगी। अगर इस अवधि में आपने किसी लक्ष्य को पाने के लिए कठिन परिश्रम किया, तो आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी।

उपाय- जीवन साथी को परफ्यूम गिफ्ट करें।

वर्ष 2017 में पड़ने वाले विभिन्न त्यौहार की तारीख के लिए क्लिक करें

मकर

वाणी और बुद्धि का प्रतिनिधित्व करने वाला बुध ग्रह आपकी राशि से तीसरे भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में आपके करियर में एक अहम मोड़ आने वाला है। इस दौरान आप किसी बड़े संगठन के साथ जुड़कर काम कर सकते हैं। काम को लेकर एकाग्रता पहले की अपेक्षा ज्यादा बढ़ेगी। आप लक्ष्यों को निर्धारित कर उन्हें प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे। अगर आपके अंदर कोई ऐसी खूबी या शौक है जिसे आजीविका का साधन बनाया जा सकता है, तो इस कला को निखार करने की कोशिश करें। क्योंकि इससे आपको बड़ा फायदा हो सकता है। इस अवधि में काफी लोगों से मिलना-जुलना होगा, इसकी वजह से आपका सामाजिक दायरा बढ़ेगा। सुखद और मंगलमय यात्रा के योग भी बन रहे हैं। आप पवित्र और धार्मिक कार्यों में शामिल होंगे। आपके भाई-बहनों के जीवन में भी खुशियां आएंगी।

उपाय- शनिवार के दिन किसी ज़रुरतमंद और दिव्यांग व्यक्ति की मदद करें।

मुफ्त में करें वैवाहिक कुंडली का मिलान

कुम्भ

बुध ग्रह आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेगा। वाणी का कारक कहे जाने वाले बुध ग्रह के प्रभाव से आपकी भाषा और बोली में एक निखार आएगा। इस दौरान आपकी बातों से लोग आकर्षित होंगे। हालांकि बेवजह और ज्यादा बात करने से बचें वरना विवाद की स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है। वे लोग जो गायन के क्षेत्र से जुड़े हैं इस अवधि में उनकी गायन शैली में निखार आएगा। अचानक लाभ होने से आमदनी में बढ़ोतरी होगी। हालांकि इस दौरान कुछ ऐसे मौके भी आएंगे, जहां आपको इच्छा के विरुद्ध जाकर खर्च करना होगा। छात्रों को परीक्षा में अच्छे अंकों की बदौलत शानदार सफलता मिलेगी। आपके बच्चों के स्वभाव में चिड़चिड़ापन आएगा। वहीं परिवार में भी कुछ मुद्दों पर तकरार हो सकती है। इसलिए हर मामले में संयम के साथ काम लें।

उपाय- छोटी बच्चियों को खुश रखें और कन्या भोज व कन्या पूजन करें।

मीन

बुध ग्रह आपकी राशि में ही गोचर करेगा। इस अवधि में बुध के प्रभाव से पारिवारिक जीवन में शांति और सद्भाव बना रहेगा। लव लाइफ और मैरिड लाइफ भी बेहद अच्छी रहेगी। इस दौरान जीवन साथी की ओर से आपको हरसंभव मदद मिलेगी। वहीं प्रेमी युगल एक-दूसरे के साथ हसीन पल गुजारेंगे। अगर आप पार्टनरशिप में कोई काम कर रहे हैं या करना चाहते हैं तो यह समय इस योजना के लिए बेहद अनुकूल है। क्योंकि पार्टनरशिप में काम करने पर आपको लाभ और बढ़ोतरी मिलने के योग है। हालांकि सफलता प्राप्त करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। जीवन साथी को प्रमोशन मिलने से आपकी खुशियां और बढ़ जाएगी। प्रेम संबंधों में ऐसे कई ज़ज्बाती क्षण आएंगे जब आप अपनी भावना लव पार्टनर के साथ साझा करेंगे। अंत में सबसे खास बात, इस अवधि में आप मकान का निर्माण कार्य शुरू कर सकते हैं, साथ ही घर पर कोई मांगिलक कार्य का शुभारंभ होगा।

उपाय- भगवान श्री कृष्ण को साफ चंदन का चढ़ाएं और अपने माथे पर सफेद चंदन का तिलक लगाएं।

नि:शुल्क जन्म कुंडली प्राप्त करने के लिए क्लिक करें

2017 गोचर

मंगल का मकर में गोचर मंगल वृश्चिक में वक्री मंगल का वृश्चिक में गोचर मंगल का तुला राशि में गोचर मंगल का कन्या में गोचर मंगल का सिंह राशि में गोचर मंगल अस्त मेष राशि में मंगल का मेष में गोचर मंगल का मीन में गोचर मंगल का मिथुन में गोचर मंगल का वृषभ में गोचर मंगल का वृषभ में गोचर मंगल का गोचर कुम्भ राशि में शनि वृश्चिक में अस्त शनि वक्री वृश्चिक में वृश्चिक राशि में शनि उदय सूर्य का तुला राशि में गोचर सूर्य का मीन में गोचर सूर्य का कुम्भ में गोचर सूर्य का मकर में गोचर सूर्य का धनु राशि में गोचर सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर सूर्य का कन्या राशि में गोचर सूर्य का सिंह राशि में गोचर सूर्य का कर्क में गोचर सूर्य का मिथुन में गोचर सूर्य का वृषभ में गोचर सूर्य का मेष में गोचर सूर्य का वृषभ में गोचर सूर्य का मिथुन में गोचर
धनु राशि में शुक्र का गोचर शुक्र का वृश्चिक में गोचर शुक्र का कन्या में गोचर शुक्र कर्क में मार्गी शुक्र का मीन में गोचर शुक्र का कुम्भ में गोचर शुक्र का मकर में गोचर शुक्र मेष में अस्त शुक्र का वृश्चिक में गोचर शुक्र का तुला में गोचर मंगल का कर्क में गोचर अस्त शुक्र का कर्क में गोचर शुक्र सिंह राशि में वक्री शुक्र का वृषभ में गोचर शुक्र का मेष में गोचर शुक्र का सिंह में गोचर शुक्र का मिथुन में गोचर शुक्र का कर्क में गोचर शुक्र का मिथुन में गोचर शुक्र का वृषभ में गोचर शुक्र का वृश्चिक में गोचर वृश्चिक राशि में शुक्र उदय गुरु कन्या राशि में वक्री गुरु का सिंह में गोचर गुरु सिंह राशि में अस्त गुरु कर्क राशि में मार्गी कर्क राशि में बृहस्पति वक्री गुरु कर्क राशि में मार्गी शनि धनु राशि में वक्री

Buy Your Big Horoscope

100+ pages @ Rs. 299/-

Big horoscope

AstroSage on MobileAll Mobile Apps

AstroSage TVSubscribe

Buy Gemstones

Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com

Buy Yantras

Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com

Buy Navagrah Yantras

Yantra to pacify planets and have a happy life .. get from AstroSage.com

Buy Rudraksh

Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com

Reports

FREE Matrimony - Shaadi